Free sex

Rated 3.98/5 based on 782 customer reviews

तो इसी तरह एक दिन मैं शनिवार के दिन दिल्ली में सीपी के एक क्लब माय बार में बैठा हुआ था और बियर का मज़ा ले रहा था..

बार में हल्का हल्का म्यूजिक बज रहा था जिससे सुरूर सा बन गया था..

तभी दूसरा आदमी अपनी बीवी को लेकर जाने लगा वो बहुत नशे में था तो उसकी बीवी उसको संभाल कर ले जाने लगी..

अब मेरे बगल में वो भाभी और उनका पति फुल नशे में था… मैं उनकी गोरी गोरी टांगो को देख रहा था तभी वो मेरी तरफ मुड़ी और बोला क्या आप मेरी हेल्प करोगे तो मैंने कहा ” हां मैडम कहिये ” तब भाभी बोली ” आप मेरे हस्बैंड को मेरी गाडी तक छोड़ने में मेरी हेल्प करोगे..

Home | Register | Login | Search | Upload | Members | Groups | 2257 | Terms | Privacy | DMCA | Report abuse | Contact | Advertise | Mobile Version Sex Oasis, it's owners, designers, partners, representatives and this web site are not responsible for any action taken by its members on this site.

करीब आधे घंटे में उन दोनों आदमियों ने बहुत पी ली और दोनों बहुत नशे में हो गए..तो उन्होंने कहा मैं कार नहीं चला सकती क्या तुम हमे घर तक पंहुचा सकते हो ..तो मैंने हां में सर हिलाया और वो मेरे बगल वाली सीट पर आकर बैठ गयी..मैं कार ड्राइव कर रहा था और भाभी मुझे देखे जा रही थी .और पेट पर जीभ से चाटने लगा और कमर पर जीभ से चाट और चूम चूम कर भाभी का चेहरा लाल कर दिया.फिर मैंने भाभी की पैंटी उतार दी ..और उनकी गुलाबी चुत को आज़ाद कर दिया फिर मैंने उनकी चुत में ऊँगली घुसा दी और हलके से चुत फैलाया और ऊँगली अंडर तक घुसा दी.

Leave a Reply